अगस्त 16, 2007

देश को समर्पित एक अलबम

Posted in jagjit, jagjit singh, new releases, rehman, singh, times, times music at 1:07 अपराह्न द्वारा Amarjeet Singh

म्यूजिक कंपोजर ए. आर. रहमान ने इस दौर की कई यादगार धुनें दी हैं। अपने इसी टैलेंट के बल पर उन्होंने विश्व के 25बड़े संगीतकारों में अपना नाम दर्ज़ करवाया है। और अब वह अपनी नई पेशकश ला रहे हैं,जिसमें उन्होंने बात की है फ्रीडम की। इतना ही नहीं उन्होंने गुरु रविन्द्रनाथ टैगोर के लिखे राष्ट्रगान ‘जन गण मन’ के लिए भरतबाला के साथ मिलकर नई धुनें भी तैयार की हैं। यूं तो इस गीत में ही संपूर्ण भारत के दर्शन हो जाते हैं, लेकिन रहमान की इस नई धुन पर बना विडियो देश की एक अनूठी छवि दिखाता है।

टाइम्स म्यूजिक के बैनर तले रहमान की यह अलबम ‘जन गण मन’ इसी गान के जरिए ही देशप्रेम का संदेश देती है। रहमान का कहना है कि इसमें कोई दो राय नहीं है कि हमारा देश बहुत तेजी से तरक्की कर रहा है। लेकिन मुझे लगता है कि हमारी सहनशीलता कम होती जा रही है। फिलहाल जरूरत हर कदम पर बैलेंस बनाकर चलने की है। तभी सही मायनों में विकसित राष्ट्र बनने वाले रास्ते की ओर बढ़ेंगे।

रहमान को उनकी वर्सटैलिटी के लिए जाना जाता है। इस बार भी अपना हुनर दिखाते हुए उन्होंने राष्ट्र गान के सिम्फोनिक वर्जन के लिए 80 अलग-अलग इंस्ट्रूमेंट्स का प्रयोग किया है। रहमान का कहना है कि इस धुन को तैयार करने में उन्हें तकरीबन 4 साल का समय लगा। मेहनत उस वक्त रंग लाई जब उनके निर्देशन में लता मंगेशकर, आशा भोंसले, पं. हरिप्रसाद चौरसिया, उस्ताद अमजद अली खान, पं. शिवकुमार शर्मा और जगजीत सिंह जैसे दिग्गजों ने अपनी आवाज़ दी।

Advertisements

1 टिप्पणी »

  1. उन्मुक्त said,

    अच्छी सूचना है। हिन्दी में ही क्यों नहीं लिखते।


एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

%d bloggers like this: